UNCATEGORIZED

प्रशासन और किसानों की बात चीत फेल , किसानों को रोकने के लिए भारी पुलिस बल तैनात

प्रशासन और किसानों की बात चीत फेल , किसानों को रोकने के लिए भारी पुलिस बल तैनात

करनाल: हरियाणा के करनाल में बड़ी संख्या में किसान जमा हुए हैं। किसानों की महापंचायत को देखते हुए प्रशासन ने उनसे बात भी की लेकिन किसान नेताओं और प्रशासन के बीच हुई बातचीत फेल रही। अब किसान मिनी सचिवालय पहुंचे हैं। किसान मार्च करके यहां पहुंचे हैं। मौके पर भारी संख्या में पुलिस बल तैनात है। राज्य सरकार ने पहले ही 4 ज़िलों में इंटरनेट, मोबाइल और एसएमएस सेवाएं बंद कर दी हैं।

महापंचायत से पहले किसान नेता गुरनाम चढ़ूनी ने भड़काऊ बयान दिया था। उन्होंने कहा था कि किसान ट्रैक्टर लेकर निकलें और नाके को तोड़ दें। हालांकि, इसके साथ ही उन्होंने किसानों से उपद्रव न करने की भी अपील की थी। उधर, हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज ने कहा कि किसान शांतिपूर्ण तरीके से अपना आंदोलन करें। विज ने कहा कि सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। पर्याप्त फोर्स को तैनात किया गया है।

उन्होंने बताया कि कुछ रूट को डायवर्ट किया गया गया। करनाल जिले में मोबाइल इंटरनेट सेवाएं सोमवार दोपहर 12:30 बजे से बंद हैं और इन्हें आज मध्यरात्रि तक बंद रखा जाएगा। वहीं, करनाल के एसपी ने बताया कि पुलिस इसलिए तैनात की गई है कि क़ानून व्यवस्था बनी रहे और कोई भी गैरक़ानूनी गतिविधि न हो। किसान महापंचायत के दौरान हम बातचीत भी करेंगे और चाहेंगे कि मामले का बातचीत से हल निकलेंगे।

पुलिस द्वारा जारी एक एडवायजरी अनुसार, मुख्य राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 44 (अंबाला-दिल्ली) पर गलवार को करनाल जिले में कुछ यातायात व्यवधान हो सकता है इसलिए, एनएच-44 का उपयोग करने वाले लोगों को सलाह दी जाती है कि वे करनाल शहर की यात्रा करने से बचें या सात सितंबर को अपने गंतव्य तक जाने के लिए वैकल्पिक रास्तों का उपयोग करें।

अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (कानून व्यवस्था) नवदीप सिंह विर्क ने कहा कि लघु सचिवालय के घेराव के आह्वान को देखते हुए व्यापक सुरक्षा प्रबंध किए गए हैं। उन्होंने कहा कि इन व्यवस्थाओं का प्राथमिक मकसद शांति व्यवस्था कायम रखना, किसी भी तरह की हिंसा को रोकना, यातायात और सार्वजनिक परिवहन प्रणाली के कामकाज को सुगम बनाना तथा पूरे राज्य में, खासकर करनाल में सरकारी संपत्ति की सुरक्षा करना है।

विर्क ने कहा कि करनाल रेंज के सभी वरिष्ठ अधिकारियों को करनाल और आसपास के जिलों में कानून-व्यवस्था तथा शांति बनाए रखने के लिए आवश्यक एहतियाती कदम उठाने के निर्देश दिए गए हैं। उन्होंने कहा कि किसी भी प्रकार की अप्रिय घटना को रोकने और नागरिकों की सुरक्षा करने के लिए सभी उपाय किए जाएंगे। विर्क ने कहा कि सभी नागरिकों को इन व्यवस्था के बारे में पहले से सूचित किया जा रहा है ताकि वे किसी भी असुविधा से बचने के लिए अपनी यात्रा की योजना में बदलाव कर सकें।

 

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close