राष्ट्रीय

कांग्रेस को बड़ा झटका मुख्यमंत्री ने दिया इस्तीफा

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने शनिवार को अपने पद से इस्तीफा दे दिया

चंडीगढ़: पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने शनिवार को अपने पद से इस्तीफा दे दिया। कैप्टन ने राज्यपाल बनवारीलाल पुरोहित से मुलाकात कर उन्हें अपना इस्तीफा सौंप दिया। इससे पहले अमरिंदर सिंह ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से बात की और बार-बार हो रहे ‘अपमान’ को लेकर नाराजगी एवं नाखुशी जताई। सूत्रों ने बताया कि मुख्यमंत्री ने अपने समर्थक विधायकों के साथ बैठक में इस्तीफा देने के बारे में फैसला किया। वहीं, कैप्टन के बेटे रनिंदर सिंह ने भी ट्वीट कर कहा कि उनके पिता मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देंगे। कांग्रेस आलाकमान के निर्देश पर आज शाम 5 बजे पार्टी के विधायक दल की बैठक बुलाई गई है।

प्रेस कॉन्फ्रेंस में अमरिंदर ने कहा, सोनिया जिसे चाहें सीएम बनाएं

पंजाब के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देने के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस में कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कड़े तेवर दिखाए। उन्होंने कहा कि अब सोनिया गांधी जिसे चाहें उसे सीएम बना लें। उन्होंने कहा कि मैंने सुबह ही सोनिया गांधी को फोन कर अपने फैसले के बारे में बता दिया था। कैप्टन ने कहा कि हाईकमान को किसी और पर भरोसा है तो उसी पर भरोसा करें, मैं जा रहा हूं। उन्होंने कहा कि मैंने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है, और अब अपने लोगों से बात करके आगे की रणनीति पर फैसला लूंगा। कैप्टन ने यह भी कहा कि वह अपमानित महसूस कर रहे हैं।

तय हो गई थी पंजाब से कैप्टन की विदाई

ऐसे में पार्टी लंबे समय तक विवाद की स्थिति को नहीं झेलने की हालत में नहीं थी। यदि हम पिछले कुछ घटनाक्रमों पर नजर डालें तो साफ हो गया था कि अमरिंदर सिंह की कुर्सी जानी है। हालांकि कैप्टन की विदाई की टाइमिंग को लेकर सवाल उठ रहे थे, लेकिन जैसे ही उनकी जानकारी के बगैर चंडीगढ़ में विधायकों की बैठक बुलाई गई, यह तय हो गया कि वह अब ज्यादा देर तक पंजाब के मुख्यमंत्री नहीं रह पाएंगे। 40 विधायकों के दस्तखत वाले खत से शुरू हुए विवाद ने आखिरकर पंजाब की सियासत में बड़ा फेरबदल कर दिया।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close