अपराधबलिया

छत की सीलिंग एवं दुकान के रोशनदान तोड़कर दो स्वर्ण व्यवसायियों की दुकानों में चोरी

चितबड़ागांव(बलिया):- नगर पंचायत के मुख्य बाजार स्थित भारतीय स्टेट बैंक की स्थानीय शाखा से 50 मीटर पश्चिम स्थित रामबाबू स्वर्णकार के दुकान के ऊपर से सीलिंग तोड़कर गत शुक्रवार रात लगभग 1:00 बजे के आसपास चोरों ने दुकान में घुसकर लगभग 3.5 लाख का आभूषण चुरा लिया।

वहीं दूसरी तरफ़ गत रात्रि के अज्ञात पहर में ही स्टेट बैंक तिराहा से 50 मीटर उत्तर की तरफ स्थित श्रीराम सर्राफ के दुकान के पीछे से रोशनदान तोड़कर चोरों ने अनुमानित ‌ढाई लाख रुपए के आभूषण चुराने में सफल रहे। सूचना पर पहुंचे थाना प्रभारी निरीक्षक निहार नंदन कुमार एवं सीओ सदर जगबीर चौहान ने घटनास्थल का निरीक्षण कर फॉरेंसिक टीम को बुलवाकर फिंगरप्रिंट्स उठाएं एवं श्रीराम सर्राफ के दुकान में लगा सीसीटीवी कैमरे के फुटेज को पेन ड्राइव में लोड कर जांच के लिए ले गए।

प्राप्त जानकारी के अनुसार रामबाबू सर्राफ एवं श्री राम सर्राफ प्रतिदिन की तरह शुक्रवार को रात्रि 7:30 बजे अपनी अपनी दुकान बंद करके घर चले गए। सुबह 7:30 बजे जब रामबाबू का पुत्र अजय कुमार जब दुकान खोला तो समान बिखरा देख कर दुकान बंद करके अपने परिजनों को सूचित किया। रामबाबू सर्राफ ने जब अपनी दुकान को खोलकर देखा तो आवाक रह गए और उन्होंने तत्काल इसकी सूचना थाने पर दी। सूचना पर पहुंचे थाना प्रभारी निरीक्षक निहार नंदन कुमार ने बताया कि मुख्य लाकर को सुरक्षित है लेकिन दूसरे लाकर से रामबाबू के तहरीर के अनुसार 3.5 लाख की चोरी हुई है। अभी पुलिस दुकान में हुई चोरी का जांच कर ही रही थी कि सूचना मिली कि श्री राम सर्राफ के दुकान में भी चोरी हुई है। पुलिस ने पाया कि श्री राम सर्राफ के दुकान के पीछे का रोशनदान तोड़कर चोर अंदर घुसे हैं और उनका भी मुख्य लाकर सुरक्षित है लेकिन छोटे लाकर से लगभग ढाई लाख रुपए के आभूषण की अनुमानित चोरी बताई जा रही है। थाना प्रभारी निरीक्षक निहार नंदन कुमार मैं इसकी सूचना तत्काल सीओ सदर जगबीर चौहान को दी और वह भी आकर मौके पर जांच में जुट गए एवं फॉरेंसिक टीम को बुलाकर फिंगरप्रिंट्स इत्यादि लेकर श्री राम सर्राफ के दुकान में लगे सीसीटीवी कैमरे के फुटेज को चेक कर अग्रिम कार्यवाई में जुट गए।

रिपोर्ट- संजय राय

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close