[ia_covid19 type="table" loop="5" theme="dark" area="IN" title="India"]
गौतमबुध नगर

यीडा में ऑनलाइन भुगतान, नोएडा में इ फाइलिंग के सपने और ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण

गौतम बुद्ध नगर:नोएडा प्राधिकरण अपने यहां ईआरपी सिस्टम लागू करने जा रहा है और यमुना एक्सप्रेस-वे प्राधिकरण अपनी सेवाएं ऑनलाइन करने।इन दोनों प्राधिकरणों और उत्तर प्रदेश सरकार के किसी भी सरकारी कार्यालय से वर्षों पहले ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण अपने यहां ईआरपी सिस्टम लागू करने का दावा कर चुका है। ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण का ईआरपी सिस्टम की वर्तमान स्थिति कैसी है? पिछले लगभग दो सप्ताह से यह सिस्टम पूरी तरह से ठप्प पड़ा है।इसे डिजाइन और संचालित करने वाली कंपनी टेक महिंद्रा कई महीनों पहले अपना बोरिया बिस्तर समेट कर जा चुकी है। बताया जाता है कि उसे प्राधिकरण से अपना लगभग आधे से अधिक मेहनताना नहीं मिला है जबकि प्राधिकरण उसपर काम पूरा न करने का आरोप लगाता है। प्राधिकरण के पूर्व मुख्य कार्यपालक अधिकारी नरेंद्र भूषण के समय हुए अनुबंध की शर्तों को लेकर भी लोग दबे स्वर में सवाल खड़े करते हैं। हालांकि राज्य सरकार की पहल पर यह एक महान परिवर्तनकारी प्रयोग था जिसके पूरी तरह चालू हो जाने से प्राधिकरण पर अनावश्यक काम का दबाव हमेशा के लिए समाप्त हो सकता है और आवंटियों को घर बैठे अमूमन सभी सेवाएं उपलब्ध हो जाएंगी।इस बीच वर्तमान सीईओ रवि कुमार एनजी ने इस सिस्टम को पुनः चालू कराने के लिए एन आई सी को आमंत्रित किया है। बताया गया है कि एन आई सी की एक टीम ने टेक महिंद्रा के द्वारा तैयार किए गए सिस्टम की पड़ताल शुरू कर दी है। उसके द्वारा सिस्टम को चालू करने के लिए दिए जाने वाले प्रस्ताव पर प्राधिकरण अधिकारी विचार कर आगे बढ़ने का निर्णय लेंगे।तब तक? ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण में करोड़ों खर्च करने, सबसे पहले कम्प्यूटरिकृत होने तथा आवंटियों के साथ चेहरा विहीन (फेसलेस) सेवाएं उपलब्ध कराने के दावों के विपरीत ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण में हल्की भारी पत्रावलियों को इधर से उधर लेकर घूमने का दौर लौट आया है,

राजेश बैरागी( वरिष्ठ पत्रकार)

जागरुक मतदाता बनें-मतदान अवश्य करें

Show More

Related Articles

Close