उत्तर प्रदेशग्रेटर नोएडा

ग्रेटर नोएडा: अफ्रीका से लौटे एक परिवार के तीन सदस्यों को कोरोना संक्रमित होने का शक, किए गए Quarantine

ग्रेटर नोएडा. दिल्ली से सटे ग्रेटर नोएडा में एक परिवार के तीन सदस्यों को कोरोनावायरस से संक्रमित होने के शक में क्वॉरेंटाइन वार्ड में रखा गया है. परिवार में पति-पत्नी व एक छोटा बच्चा अभी हाल में ही अफ्रीका से लौटा है. परिवार ग्रेटर नोएडा वेस्ट की गौर सिटी सोसाइटी में रहता है. परिवार ने खुद स्वास्थ्य विभाग को फोन कर कोरोनावायरस से संक्रमित होने की आशंका जताई. जिसके बाद मौके पर पहुंची टीम ने पूरे परिवार को एहतियातन क्वॉरेंटाइन वार्ड में शिफ्ट कर दिया. पूरा परिवार 14 दिनों तक क्वॉरेंटाइन वार्ड में ही रहेगा.

परिवार ने खुद किया सम्पर्क

स्वस्थ्य विभाग परिवार के तीनों सदस्यों के सैंपल को लैब टेस्ट के लिए भेजने की तैयारी कर रहा है. दरअसल, बुधवार रात को परिवार ने स्वास्थ्य विभाग से सम्पर्क कर कोरोनावायरस से संक्रमित होने की आशंका जाहिर की थी. फिलहाल तीनों में कोरोना की पुष्टि नहीं हुई है, लेकिन एहतियातन सभी को क्वॉरेंटाइन वार्ड में रखा गया है.

नोएडा में धारा 144 लागू

उत्तर प्रदेश के नोएडा में कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए धारा 144 लागू की गई है. प्रशासन ने यह फैसला नोएडा में बुधवार को एक और कोरोना पॉजिटिव मरीज पाए जाने के बाद लिया है. गौरतलब है कि पीड़ित व्यक्ति हाल ही में इंडोनेशिया से लौटा था. ये युवक सेक्टर 41 का रहने वाला है.

जानकारी के मुताबिक, 4 दिन पहले ही पीड़ित शख्स का सैंपल लिया गया था. कोरोना वायरस की पुष्टि होने के बाद युवक को आइसोलेशन वार्ड में एडमिट करा दिया गया है. बता दें कि अब तक नोएडा में 4 केस पॉजिटिव आ चुके हैं.

सरकार की ओर से बताए गए आंकड़ों के अनुसार उत्तर प्रदेश में अब तक कुल 17 लोगों में कोरोना वायरस की पुष्टि हुई है. 5 लोग अति संवेदनशील स्थिति में भर्ती हैं. इन अति संवेदनशील संदिग्धों की पुणे लैब से रिपोर्ट का इंतज़ार है. वहीं, अब तक 4 पीड़ित लोग रिकवर भी हुए हैं. नोएडा और लखनऊ में एक-एक मरीज के मिलने के बाद संख्या 17 तक पहुंच गई है. अब तक आगरा में 8, नोएडा में चार, लखनऊ में तीन और गाजियाबाद में दो मरीज कोरोना से संक्रमित पाए गए हैं.

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close