Bulandshahr

डी ए पी की बजाय एन पी के का इस्तेमाल कर फसल बोयें किसान

डी ए पी की बजाय एन पी के का इस्तेमाल कर फसल बोयें किसान, मृदा विशेषज्ञ ने दी किसानों को सर्वोत्तम सलाह

औरंगाबाद:- इस समय किसानों का गैहूं फसल बुबाई का समय है. किसानों को फसल बोने के लिए डी ए पी खाद की आवश्यकता होती है. लेकिन बाजार में डी ए पी उपलब्ध नहीं है. और किसान डी ए पी के लिए मारा मारा फिर रहा है.

ऐसे में अमर सिंह महाविद्यालय के कृषि रसायन एवं मृदा विज्ञान विभाग के असिस्टेंट प्रोफेसर एवं मृदा विशेषज्ञ डा० बी एस चौधरी ने क्षेत्र के किसानों को सलाह दी है कि वो गैहूं फसल बोने के लिए डी ए पी की बजाय एन पी के का उपयोग करें. उनका कहना है कि डी ए पी में मात्र दो पोषक तत्वों का समावेश होता है नाइट्रोजन 18% तथा फास्फोरस 46% जबकि एन पी के में तीन पोषक तत्वों का समावेश होता है नाइट्रोजन 12% फास्फोरस 32% तथा पोटाश 16% इसलिए किसानों को चाहिए कि फसल बुबाई में देरी ना करैं.और डी ए पी के भरोसे ना रहकर एन पी के खाद का प्रयोग करें क्योंकि यह फसलों के लिए अधिक लाभदायक है

औरंगाबाद से राजेन्द्र अग्रवाल

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close