अपराधउत्तर प्रदेश

मामा – भांजे के खिलाफ पुलिस ने किया हत्या का मुकदमा दर्ज

चितबड़ागांव (बलिया)। विगत दिनों पूर्व हुई हत्या के मामले में फेफना पुलिस ने नाटकीय ढंग से बहुत ही बड़ी खेल खेलते हुए आखिरकार हत्या का मामला दर्ज करना ही पड़ी। आपको जानकारी के लिए बता दें कि 20 जुलाई की रात चितबड़ागांव निवासी सुधीर यादव की हत्या कर दी गई थी जिसे फेफना थाने की पुलिस मौत का कारण सड़क दुर्घटना बताकर आरोपियों को बचाने में जुटी हुई थी लेकिन मृतक सुधीर यादव के परिजन चितबड़ागांव कस्बेवासियों की मेहनत और आंदोलन आखिरकार रंग ला ही दिया। जिस घटनाक्रम को गहराई से देखते हुए एसपी राजकरण नय्यर के निर्देश पर फेफना थाना पुलिस ने मामा बब्लू उर्फ वकील तथा भांजा अरमान के विरुद्ध शुक्रवार की शाम हत्या के मामले में मुकदमा दर्ज कर आरोपियों की धरपकड़ में जुट गई है।

आपको जानकारी के लिए बता दें कि घटना की खबर शुरू से लेकर अब तक राष्ट्रीय हिंदी दैनिक समाचार पत्र आज ने प्रमुखता से प्रकाशित किया जिसके चलते फेफना पुलिस को झुकना पड़ा है । बीते 20 जुलाई की शाम सुधीर यादव व अरमान तथा आदित्य गुप्ता बलिया यह कहकर घर से निकले थे कि हम लोग बर्थडे पार्टी में जा रहे हैं मगर जानकारी के अनुसार बीच रास्ते में ही अरमान ने बाइक से उतर कर दोनों को यह कहते हुए बलिया जाने को कहा कि तुम लोग बलिया चले जाओ उधर से जब तुम लोग वापस आना तो मैं यहीं पर मिलूंगा। इसके बाद सुधीर यादव व आदित्य गुप्ता जब सागरपाली के पास आया तो तथाकथित रूप से दोनों सड़क दुर्घटना में सागरपाली के पास घायल हो गए। जिसमें सुधीर यादव की मौके पर मौत हो गयी थी जबकि आदित्य गुप्ता को बेहोशी की हालत में जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया था। इस मामले में घटना के दूसरे दिन मृतक सुधीर यादव का बड़ा भाई अनिल यादव ने फेफना थाने में तहरीर देकर हत्या की आशंका जताई थी। ऊधर घटना के बाद से ही अरमान घर से फरार चल हो गया था। इसके बाद कस्बेवासियों का शक यकीन में बदल गया और कार्रवाई करने की मांग मांग को लेकर कैंडिल जुलूस निकालने लगे। जिसे देखते हुए चितबड़ागांव थाने की पुलिस के साथ ही मौके पर सीओ ने पहुंच कर तीन दिन के अंदर उचित कार्यवाही करने का भरोसा दिया था । लेकिन तीन दिन बीत जाने के बाद भी जब फेफना थाने में मुकदमा दर्ज नहीं हुआ तो एक बार फिर परिजनों सहित कस्बेवासियों ने एसपी से मिल अपनी समस्या बताई।

एसपी राजकरण नय्यर के निर्देश पर आखिरकार फेफना थाने की पुलिस ने नौ दिन बाद शुक्रवार की शाम मामा बब्लू उर्फ वकील तथा भांजा अरमान के विरुद्ध मुकदमा दर्ज किया। अब दोनों की गिरफ्तारी के बाद ही यह पता चल पाएगा कि आख़िरकार वे लोग सुधीर यादव की हत्या क्यों किए।

रिपोर्ट संजय राय

Show More

Related Articles

Close