उत्तर प्रदेश

बालाजी रामलीला में रावण-मेघनाथ और अंगद संवाद बना आकर्षण का केन्द्र

बागपत,(उत्तर प्रदेश) बागपत के खेकड़ा नगर में चल रही श्री बालाजी रामलीला में राम का अंगद को रावण के दरबार में भेजने से लेकर संजीवनी बूटी से लक्ष्मण की मूर्छा भंग करने तक का भव्य मंचन हुआ। रामलीला मंचन का विधिवत शुभारंभ समाजसेवी सुधीर धामा, मनीष जैन, सोनू वर्मा, खेकड़ा के एसएचओ डीके त्यागी ने श्रीराम की आरती से किया।

रामलीला में राम-सुग्रीव द्वारा अंगद को लंका भेजना, अंगद द्वारा राम का संदेश रावण को देना, अंगद द्वारा पैर जमाकर लंका के शूरवीरों को चेतावनी देना, रावण-राम की सेनाओं का युद्ध आरम्भ होना, मेघनाथ द्वारा ब्रहमास्त्र का प्रयोग कर लक्ष्मण को मूर्छित करना, हनुमान का संजीवनी लेने जाना, हनुमान-कालनेमी युद्ध, संजीवनी बूटी से सुशैन बैद्य द्वारा लक्ष्मण की मूर्छा भंग करने तक का धार्मिक शिक्षाओं से ओतप्रोत सुन्दर नाटय रामलीला के कलाकारों द्वारा प्रस्तुत किया गया।

इस अवसर पर श्री बालाजी रामलीला कमेटी के प्रधान नितिन जैन, डायरेक्टर राजेश शर्मा, उप प्रधान नरेंद्र शर्मा, कोषाध्यक्ष संजीव जैन, अंकित जैन, सचिव प्रवीण यादव, विनोद शर्मा संस्थापक राजेन्द्र यादव, संरक्षक आनंद यादव, धर्मवीर यादव, अजय शर्मा, दीपक कुमार, गौरव वर्मा, गोविंद माहेश्वरी, मनोज धामा चार्ली, मोहित जैन, मोहन बेदी, अंकुश जैन, अरुण कुमार यादव, नरेश यादव, ललित तवर, अमित कुमार, मनोज मोगा, प्रशांत, संजय वर्मा, हिमांशु वर्मा, गौरव वर्मा, अनिल शर्मा, सूरज डांसर, अनुज कश्यप, नितिन सिंघल, अंकित रोहिल्ला सहित सैंकड़ों की संख्या में दर्शकगण उपस्थित थे।

रिपोर्ट विवेक जैन

Show More

Related Articles

Close