गौतमबुध नगर

जनपद में खुले पांच नये आंगनबाड़ी केन्द्र, जेवर विधायक ने किया लोकार्पण

जेवर क्षेत्र में जल्द खुलेगा एक नया हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर, कुपोषण दूर करने की मुहिम में आम जनता अपना योगदान प्रदान करे : धीरेन्द्र सिंह

दस गर्भवती की गोद भराई और दो बच्चों का हुआ अन्नप्राशन

नोएडा,:आज राष्ट्रीय पोषण माह में जनपद को पांच नये आंगनबाड़ी केन्द्र और मिल गये हैं। अब यहां आंगनबाड़ी केन्द्रों की संख्या 1113 हो गयी है। शुक्रवार को इन नवनिर्मित आंगनबाड़ी केन्द्रों का लोकार्पण किया गया। प्रदेशभर में नये बने सभी केन्द्रों का लोकार्पण मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लोकभवन लखनऊ से ऑनलाइन किया, वहीं जनपद में जेवर के विधायक धीरेन्द्र सिंह ने इनका लोकार्पण भौतिक रूप से किया।

विकास खंड जेवर में पांच आंगनबाड़ी केंद्रों का निर्माण जेवर बांगर में किया गया है। इनका शुक्रवार को लोकार्पण जेवर के विधायक धीरेन्द्र सिंह ने किया। धीरेन्द्र सिंह ने कार्यक्रम में उपस्थित जनसमूह को राज्य सरकार द्वारा चलाई जा रही जनकल्याणकारी योजनाओं के बारे में जानकारी दी। उन्होंने कहा – मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में राज्य सरकार 2017 में लिए गए संकल्पों को साकार रूप प्रदान करने के लिए कटिबद्ध है। उन्होंने बताया- जेवर क्षेत्र में अतिशीघ्र एक हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर खुलने जा रहा है, जहां अनेक बीमारियों का सहज उपचार उपलब्ध होगा।

उन्होंने पोषण अभियान तथा राष्ट्र निर्माण में आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं की भूमिका की सराहना की तथा उपस्थित जनसमूह से कुपोषण दूर करने की मुहिम में अपना योगदान प्रदान करने की अपील की। उन्होंने पोषण की महत्ता बताते हुए इसमें मातृशक्ति के योगदान की सराहना की और उनको नमन किया। इस अवसर पर ब्लॉक प्रमुख मुन्नी देवी, मुख्य विकास अधिकारी तेज प्रताप मिश्र, एसडीएम जेवर रजनीकांत, जिला कार्यक्रम अधिकारी पूनम तिवारी, खंड विकास अधिकारी हनुमान प्रसाद मिश्रा उपस्थित रहे। इस अवसर पर धीरेन्द्र सिंह तथा ब्लाक प्रमुख मुन्नी देवी ने कार्यक्रम में उपस्थित दस गर्भवती की गोद भराई और दो बच्चों का अन्नप्राशन कराया।

जिला कार्यक्रम अधिकारी पूनम तिवारी ने बताया- सितम्बर माह पोषण माह के रूप में मनाया जा रहा है। इस माह में जनपद को पांच नये आंगनबाड़ी केन्द्रों की सौगात मिली है। नगला छीतर, नगला गणेशी, नगला शरीफ, रोही-1, रोही-2 में नये आंगनबाड़ी केन्द्र बनाये गये हैं। यह विस्थापित आबादी वाले क्षेत्र हैं, जो जेवर एयरपोर्ट के लिए भूमि अधिग्रहित होने के कारण बसाये गये हैं।

उन्होंने कहा- नये केन्द्र बनने से पोषण कार्यक्रम को और बल मिलेगा। उन्होंने बताया- अब तक जनपद में 1108 आंगनबाड़ी केन्द्र थे, अब इनकी संख्या 1113 हो गयी है। उन्होंने कहा- पोषण माह के अंतर्गत समेकित बाल विकास सेवा एवं पुष्टाहार विभाग द्वारा विभिन्न गतिविधियां संचालित की जा रही हैं। विभाग की पूरी कोशिश है कि जल्द से जल्द कुपोषित बच्चों की पहचान कर उन्हें स्वस्थ एवं निरोगी बनाया जाए। इस काम में जनपद की सभी आंगनबाड़ी कार्यकर्ता पूर्ण मनोयोग से जुटी हुईं हैं।

Show More

Related Articles

Close